Hindi Love Shayari

Hindi Love Shayari

सिर्फ इशारों में होती मोहब्बत अगर 
इन अल्फाजो को खूबसूरती कोण देता 
बस पत्थर बन के रह जाता ताजमहल 
अगर इश्क इसे अपनी पहचान न देता 
फासले तो बढ़ा रहे हो मगर इतना याद रखना 
के मोहब्बत बार बार इंसान पर मेहरबान नहीं होती 
दो लाइन की हिंदी शायरी
हिन्दी शायरी, हिंदी शायरी
वहम से भी अक्सर खत्म हो जाते हैं कुछ रिश्ते
कसूर हर बार गल्तियों का नही होता
हम समंदर है हमें खामोश रहने दो 
ज़रा मचल गए तो शहर ले डूबेंगे
तेरे सिवा कोई भी नाम पसंन्द नही दिल को,
कुछ इस तरह से कब्जा किया है अदाओं ने तेरी
मार ही डाल मुझे चश्म-ए-अदा से पहले 
अपनी मंज़िल को पहुँच जाऊं क़ज़ा से पहले
इक नज़र देख लूँ आ जाओ क़ज़ा से पहले, 
तुम से मिलने की तमन्ना है ख़ुदा से पहले
हश्र के रोज़ मैं पूछूँगा ख़ुदा से पहले, 
तू ने रोका नहीं क्यूँ मुझको ख़ता से पहले
ऐ मेरी मौत ठहर उनको ज़रा आने दे, 
ज़हर क जाम न दे मुझको दवा से पहले
हाथ पहुँचे भी न थे ज़ुल्फ़ तक “यारो”, 
हथकड़ी डाल दी ज़ालिम ने ख़ता से पहले
मेरे दिल मैं आज ख़्याल तेरा आ ही गया
जो छुपा था तेरे लबों पर वहीं सवाल आ ही गया
रोज़ रोज़ आ जाती हों तुम मेरे ख्वाबों मैं
आज दिन मैं तेरा जवाब आ ही गया
रात कटती हैं रोज़ तेरी यादों मैं
आज मेरी निगाहों मैं तेरा ख्वाब आ ही गया
दर्द तन्हाई का मुझसे खफा खफा रहता हैं
आज तेरे घर से जख्मों का मरहम आ ही गया
तू कोई गैर नहीं थी मेरे लिए
तेरे दिल भी आज मेरी दहलीज पर आ ही गया
सुला चुकी थी ये दुनिया ,
थपक-थपक के मुझे , 
जगा दिया तेरी पाजेब ने ,

Leave a Reply

Your email address will not be published.