Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

टूटा हुआ विश्वाश और छुटा हुआ  बचपन

जिन्दगी में कभी दुबारा वापस नहीं मिलता

नफरतो में क्या रखा है नोह्ब्ब्त से जीना सीखो

क्योकि ये दुनिया न तो हमारा घर हर और नही

आप का ठिकाना याद रहे दुसरा मोका सिर्फ कहानिया

देती है जिन्दगी नही

Leave a Reply

Your email address will not be published.