Miss u Shayari

Miss u Shayari

अफ़सोस होता है उस पल जब

अपनी पसंद कोई

और करा लेता है ख़्वाब हम देखते है

और हकीकत कोई और बना लेता है

नफरतें लाख मिलीं पर मोहब्बत न मिली,
ज़िन्दगी बीत गयी मगर राहत न मिली,
तेरी महफ़िल में हर एक को हँसता देखा,
एक मैं था जिसे हँसने की इजाज़त न मिली

उदास कर देती है हर रोज ये शाम मुझे,
लगता है तू भूल रहा है मुझे धीर-धीरे

इस मोहब्बत की किताब के,
बस दो ही सबक याद हुए,
कुछ तुम जैसे आबाद हुए,
कुछ हम जैसे बरबाद हुए

Leave a Reply

Your email address will not be published.